31 C
Mumbai
Thursday, February 2, 2023

Latest Posts

Women's IPL: 25 जनवरी को बीसीसीआई कर सकता है पांच महिला आईपीएल फ्रेंचाइजी के नाम का एलान


भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) 25 जनवरी को उन पांच फ्रेंचाइजी के नामों का खुलासा कर सकता है, जो महिला इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के उद्घाटन संस्करण में शामिल होंगे.गुरुवार को ईएसपीएनक्रिकइन्फो ने एक रिपोर्ट में इसका दावा किया है. रिपोर्ट में कहा गया कि लिफाफों में बंद इन फ्रेंचाइजियों की वित्तीय बोलियां उसी दिन खोली जायेंगी. बीसीसीआई ने हालांकि अपने निविदा दस्तावेज में बताया है कि वह सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए बाध्य नहीं है और देश में महिला क्रिकेट की बेहतरी की दिशा में काम करने के लिए बोली लगाने वालों के लिए रास्ता तलाशेगा.

पांच टीमें खेलेंगी महिला आईपीएल

पिछले हफ्ते, बीसीसीआई ने पांच डब्ल्यूआईपीएल फ्रैंचाइजी के स्वामित्व, संचालन के लिए बोलियां आमंत्रित करने के लिए एक निविदा जारी की थी. इसके लिए कोई बेस प्राइस नहीं रखा गया था. बीसीसीआई ने टेंडर में कुल 10 शहरों और उनके वेन्यू को शॉर्टलिस्ट किया है. उम्मीद जतायी जा रही है कि पहले महिला आईपीएल टूर्नामेंट का आयोजन तीन मार्च से किया जायेगा.

इन 10 शहरों को किया गया है शॉर्टलिस्ट

बीसीसीआई ने जिन दस शहरों को शॉर्टलिस्ट किया है उनमें अहमदाबाद (नरेंद्र मोदी स्टेडियम, क्षमता 112,560), कोलकाता (ईडन गार्डन, क्षमता 65,000), चेन्नई (एमए चिदंबरम स्टेडियम, क्षमता 50,000), बैंगलोर (एम चिन्नास्वामी स्टेडियम, क्षमता 42,000), दिल्ली (अरुण जेटली स्टेडियम, क्षमता 55,000), धर्मशाला (एचपीसीए स्टेडियम, क्षमता 20,900), गुवाहाटी (बारसापारा स्टेडियम, क्षमता 38,650), इंदौर (होलकर स्टेडियम, क्षमता 26,900), लखनऊ (एबी वाजपेयी इकाना क्रिकेट स्टेडियम, क्षमता 48,800) और मुंबई (वानखेड़े/डीवाई पाटिल/ब्रेबॉर्न स्टेडियम) के नाम शामिल हैं.

मुंबई के तीन स्टेडियम में लिस्ट में शामिल

मुंबई के लिए तीन स्थानों की सूची बनायी गयी है, लेकिन बीसीसीआई ने कहा है कि तीन में से एक मैदान का उपयोग “उपलब्धता और अन्य कारकों” के आधार पर किया जायेगा. 10-शहर पूल रखने की वर्तमान योजना बीसीसीआई द्वारा पिछले साल अपनी वार्षिक आम बैठक (एजीएम) में खेल के राज्य संघों को प्रस्तुत की गयी योजना से अलग है. इसके बाद, बीसीसीआई का इरादा या तो पूरे भारत के छह क्षेत्रों में से प्रत्येक से एक शहर चुनना था या पांच टीमों के लिए उचित घरेलू आधार के बिना आधा दर्जन शहरों में टूर्नामेंट आयोजित करना था.



Source link

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.