27 C
Mumbai
Wednesday, February 1, 2023

Latest Posts

Pakistan Economy Crisis: कंगाल पाकिस्तान अब काटेगा कर्मचारियों का वेतन, दाने-दाने के लिए हो रहा मोहताज


पाकिस्तान में आर्थिक संकट गहराता जा रहा है. देश पूरी तरह से कंगाल होने के कगार पर पहुंच चुका है. जनता दाने-दाने के लिए मोहताज हो गयी है. खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं. हालात ऐसे हो गये हैं कि पाकिस्तान अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए कटोरा लेकर मदद के लिए खाक छान रहा है. इस बीच खबर आ रही है कि पाकिस्तान अपने सरकारी कर्मचारियों की सैलरी में भारी कटौती करने की तैयारी में है.

सरकारी कर्मचारियों के बोनस, भत्ते पर रोक

पाकिस्तान ने अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए पहले की सरकारी कर्मचारियों के बोनस, भत्तों और स्टडी लीव पर रोक लगा दी है. पाक ने कर्मचारियों के वेतन के 25 फीसदी से अधिक के सभी भत्तों को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया है. पाकिस्तान ने ग्रेड 11 से 21 के कर्मचारियों के मेडिकल बिल भुगतान को भी रद्द कर दिया है.

पाकिस्तान में कर्मचारियों को नहीं मिल रही सैलरी

पाकिस्तान में सैलरी कटौती के बीच कर्मचारियों में पहले से वेतन को लेकर हंगामा जारी है. कर्मचारियों का आरोप है कि उन्हें समय पर सैलरी नहीं मिल रही है. रेलवे कर्मचारियों ने पिछले दिनों वेतन को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. उनका आरोप है कि उन्हें सैलरी नहीं दी जा रही है. रेलवे कर्मचारियों ने हड़ताल में जाने की धमकी भी दी. स्थिति ऐसी हो गयी है कि ट्रेनों का परिचालन सही से नहीं हो पा रहा है.

पाकिस्तान में महंगाई ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

पाकिस्तान में महंगाई ने सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले हैं. भारत के पड़ोसी देश में हर चीन महंगी हो गयी है. सरकार ने आटे, चीन और घी के दामों में 25 से 26 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी है. जिससे पाकिस्तान में आटे की कीमत 150 रुपये से पार पहुंच चुकी है. पाकिस्तान में इंधन के दाम सातवें आसमान पर हैं. पाकिस्तान में कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम 10 हजार रुपये पहुंच गये हैं. लोग प्लास्टिक थैली में गैस खरीदने के लिए मजबूर हैं. प्लास्टिक थैली में एलपीजी गैस 500 से 900 रुपये तक में उपलब्ध है. वहीं, डीजल 227.80 रुपये और पेट्रोल 214.80 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. मिट्टी का तेल 171.83 रुपये लीटर बिक रहा है.

पाकिस्तान की औसत उत्पादकता वृद्धि 2010 से 2020 तक सिर्फ 1.5 प्रतिशत रही

पाकिस्तान की औसत उत्पादकता वृद्धि 2010 से 2020 तक महज 1.5 प्रतिशत रही. गौरतलब है कि आर्थिक वृद्धि में उत्पादकता वृद्धि का महत्वपूर्ण योगदान है. अध्ययन में देश में उत्पादकता वृद्धि का अनुमान लगाने के लिए 61 क्षेत्रों में विभाजित 1,321 फर्मों के सूचीबद्ध और गैर-सूचीबद्ध आंकड़ों का इस्तेमाल किया गया.

पाकिस्तान को विश्व बैंक 1.1 अरब डॉलर का कर्ज अब अगले वित्त वर्ष में मिल पाएगा

आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को विश्व बैंक से 1.1 अरब डॉलर के दो कर्ज की मंजूरी अगले वित्त वर्ष तक के लिए टल गई है. सरकार को 45 करोड़ डॉलर के एक ऋण के जनवरी में मंजूर होन की उम्मीद थी. एआईआईबी ने पाकिस्तान को विश्व बैंक के राइज-2 सी स्वीकृति मिलने पर 45 करोड़ डॉलर देने का वादा किया है.



Source link

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.