27 C
Mumbai
Wednesday, February 1, 2023

Latest Posts

Linguistic Survey : बिहार में मैथिली से अधिक बोली जाती है भोजपुरी, जानिए अन्य भाषा बोलने वालों की संख्या


शशिभूषण कुंवर, पटना: बिहार में मैथिली से अधिक भोजपुरी बोलने वाले लोग हैं. लिंग्विस्टिक सर्वे ऑफ इंडिया ने 2011 की जनगणना के आधार पर बिहार के हिंदी, भोजपुरी, मैथिली, उर्दू, मगही, सूरजापुरी और कुर्मलीथार बोलने वालों के आंकड़े जारी किये हैं. इसके अनुसार बिहार में हिंदी के बाद भोजपुरी बोलनेवालों की सर्वाधिक संख्या है. बिहार की दूसरी राजभाषा उर्दू की तुलना में भोजपुरी बोलनेवाले तो कई गुणा अधिक हैं. इसी प्रकार आठवीं अनुसूची में शामिल बिहार की मैथिली भाषियों से भी दो गुनी संख्या भोजपुरी बोलने वालों की है.

हिंदी बोलने वालों की संख्या आठ करोड़ छह लाख से अधिक

लिंग्विस्टिक सर्वे ऑफ इंडिया द्वारा जारी आंकडों के अनुसार बिहार में हिंदी बोलने वालों की संख्या आठ करोड़ छह लाख से अधिक है. इसके बाद दूसरे स्थान पर भोजपुरी बोलने वालों की है. बिहार में भोजपुरी बोलने वालों की संख्या दो करोड़ 58 लाख से अधिक है. अगर राष्ट्रीय स्तर पर देखा जाये तो देश में पांच करोड़ पांच लाख से अधिक लोग भोजपुरी बोलते हैं. उत्तर भारत के अलावा दक्षिण भारत के आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, गोवा, केरल, तमिलनाडु, पुडुचेरी, अंडमान निकोबार आइसलैंड के भी शहरी और ग्रामीण इलाकों में भोजपुरी बोलने वाले पाये गये हैं.

मैथिली बोलने वालों की संख्या एक करोड़ 30 लाख

भाषायी गणना में लक्ष्यद्वीप ऐसा केंद्र शासित प्रदेश है जहां पर शहरी क्षेत्र में 10 लोग भोजपुरी बोलने वाले पाये गये. बिहार की आठवीं अनुसूची में शामिल मैथिली बोलने वालों की संख्या एक करोड़ 30 लाख है. बिहार के हर जिले में मैथिली बोलने वाले है. बिहार की दूसरी राजभाषा उर्दू बोलने वालों की संख्या 87 लाख 70 हजार है. देश में उर्दू बोलने वालों की संख्या भोजपुरी बोलने वालों के करीब है.

मगही बोलने वाले मैथिली बोलने वालों से कम

इसके अलावा बिहार में मगही बोलनेवालों की संख्या मैथिली से कम और उर्दू बोलनेवालों से अधिक है. राज्य में मगही बोलनेवालों की संख्या एक करोड़ 13 लाख है. यह भाषा भी पूरे देश के सभी राज्यों में बोली जाती है. राज्य की अन्य बोली जानेवाली भाषाओं में सूरजापुरी है. इसके बोलनेवालों की संख्या 18 लाख 57 हजार है.

23 जिलों में बोली जाती है सूरजापुरी

सूरजापुरी बिहार के 23 जिलों में बोली जाती है. यह भाषा सबसे अधिक किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार और अररिया में बोली जाती है. इसके अलावा बिहार के अधिसंख्य लोगों को कुर्मलीथार भाषा के बारे में जानकारी नहीं है. बिहार में कुर्मलीथार बोलनेवाले 103 लोग हैं. इस भाषा को किशनगंज में 29 लोग, कटिहार में 70 लोग और भागलपुर में चार लोग बोलनेवाले थे.

बिहार में विभिन्न भाषा बोलने वालों की संख्या

  • हिंदी – 8.06 करोड़

  • भोजपुरी – 2.58 करोड़

  • मैथिली – 1.30 करोड़

  • मगही – 1.13 करोड़

  • उर्दू – 87.70 लाख

  • सूरजापुरी – 18.57 लाख

  • कुर्मलीथार – 103 लोग



Source link

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.