27 C
Mumbai
Wednesday, February 1, 2023

Latest Posts

अगर आप भी रात में मोज़े पहनकर सोती हैं, तो इसके साइड इफेक्ट भी जान लें


इस खबर को सुनें

आपने अक्सर देखा होगा कि कई लोगों को सर्दियों में मोज़े पहनकर सोने की आदत होती है। बिना मोज़े के सोना उनके लिए नामुमकिन सा होता है। लेकिन अगर सेहत के नजरिए से देखा जाए तो यह आपके लिए कई समस्याओं का कारण बन सकता है। कई अध्ययनों में यह बात साबित हुई है कि सोते समय पैरों का गर्म होना जरूरी है। लेकिन इसके लिए मोज़े पहनकर सोना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

हेल्थ शॉट्स के इस लेख में आज हम इस विषय पर गहनता से बात करेंगे और जानेंगे इस समस्या के मुख्य कारण।

सोने से पहले पैरों का गर्म होना है जरूरी

विशेषज्ञों के मुताबिक ठण्डे पैरों के कारण ब्लड वेसेल्स में रुकावट आ जाती है, जिससे ब्लड सर्कुलेशन कम होने लगता है। इसलिए सोने से पहले पैरों का गर्म होना आवश्यक है। नेशनल स्लीप फाउंडेशन के अनुसार, सोने से पहले पैरों को गर्म करने से आपके मस्तिष्क को बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़े – शरीर में आयोडीन और नींद की कमी बन सकती है थायरॉइड का कारण, एक्सपर्ट से जाने इससे बचाव के कुछ जरूरी टिप्स

सोते समय मोजे पहनने से आपको उठानी पड़ सकती हैं ये समस्याएं

मोज़े पहनकर सोना त्वचा के लिए नुकसानदायक हो सकता है. चित्र : शटरस्टॉक

1. स्किन इंफेक्शन का खतरा

मोज़े पहनकर सोना त्वचा के लिए नुकसानदायक हो सकता है। अगर आपके मोज़े टाइट होने के साथ क्लीन नहीं हैं। तो इससे पैरों को ब्रीथ करने में परेशानी होगी। साथ ही त्वचा में बैक्टीरियल इंफेक्शन होने का खतरा भी रहेगा। जो पैरों में बदबू, खुलजी की समस्या का कारण भी बन सकता है।

2. रुक सकता है ब्लड सर्कुलेशन

मोज़े पैरों को गर्म रखकर ब्लड सर्कुलेशन में मदद जरूर करता है, लेकिन अगर आप टाइट मोज़े पहनकर सोती हैं तो यह ब्लड सर्कुलेशन को धीमा करने का कारण भी बन सकता है। इससे बॉडी की हीट भी बाहर निकलने में समस्या होगी, जो सिरदर्द का कारण भी बन सकती है।

3. ओवरहीटिंग की समस्या

सोते समय हमारे शरीर की एक्स्ट्रा हीट पैरों की सहायता से बाहर निकलती है। इसलिए मोज़े पहनकर सोना बॉडी की हीट को बाहर निकलने से रोक सकता है। जिसके कारण आपको ओवरहीटिंग की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

अपनी आदत में बदलाव के लिए ट्राई करें ये नुस्खे

गर्म पानी का पैरों को धोएं

पबमेड सेंट्रल की एक रिसर्च में सामने आया है कि गर्म पानी से नहाना या पैरों को धोना इंसोमनिया और थकावट को कम करने में मदद कर सकता है। सोने से पहले गर्म पानी से पैरों को धोना शरीर के तापमान को बनाए रखने में मदद करता है। जिससे बेहतर नींद लेने में मदद मिल सकती है।

foot infection
गुनगुने तेल से मालिश थकावट को कम कर सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

गुनगुने तेल से मालिश

गुनगुने तेल से मालिश थकावट को कम करके रिलेक्स होने में मदद कर सकती है। मसाज करने से शरीर में से गर्मी बढ़ेगी जिससे बेहतर नींद लेने में मदद मिलेगी।

वॉर्मिंग बैग से सिकाई करें

अगर आपको बिना मोज़े के सोने में बहुत ज्यादा परेशानी होती है, तो आप वॉर्मिंग बैग से अपने पैरों की सिकाई कर सकते हैं, इससे पैरों में गरमाहट बनी रहेगी और आपको बेहतर नींद लेने में भी मदद मिलेगी।

यह भी पढ़े – पीठ या सिर दर्द भी हो सकते हैं पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज के लक्षण, तुरंत जांच कराना है समझदारी



Source link

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.